Isabgol / Isabgol ke Fayde in Hindi

Fayde

Isabgol Uses

Husk  Meaning

Isabgol Benefits

Isabgol Side Effects

Download the Benefits in PDF

कुछ और हैरान करने वाले फायदे ज़रूर देखें

ईसबगोल की भूसी (isabgol bhusi) पेट के सभी रोगों में काम आती है| ईसबगोल बलवर्द्धक, पौष्टिक तथा नपुंसकता को दूर करता है|isabgol ke fayde (isabgol benefits) असीमित है | आज हम  isabgol/isabgol ki bhusi ke fayde hindi me discuss करेंगे |  इस पेज में हम isabgol ke fayde के साथ साथ isabgol side effects भी बताएंगे |

Isabgol

Isabgol Uses

पाचन क्रिया ठीक करे

ध्यान रहे कि एक स्वस्थ शरीर के लिए पाचन क्रिया का ठीक रहना बहुत जरूरी है और ईसबगोल इसमें आपकी मदद कर सकता है। दरअसल, पाचन क्रिया को अच्छी तरह से कार्य करने के लिए फाइबर की आवश्यकता होती है और अगर आहार के जरिए इसे लिया जाए तो पाचन की क्रिया संतुलित बनी रह सकती है। फाइबर की पूर्ति के लिए आप ईसबगोल का सेवन कर सकते हैं।

कब्ज की समस्या को दूर करे

कहा जाता है कि कब्ज की समस्या से अगर आप परेशान हैं, तो ईसबगोल का सेवन आपको इस समस्या से राहत दिला सकता है। ईसबगोल में घुलनशील फाइबर की मात्रा पाई जाती है। घुलनशील फाइबर प्राकृतिक रूप से सभी घटक (Component) मौजूद होते हैं, जो कब्ज जैसी पेट संबंधी समस्याओं से राहत दिलाने का काम कर सकते हैं।

वजन घटाने में मददगार

विशेषज्ञों की राय के अनुसार वजन घटाने के लिए भी इसबगोल आपकी मदद कर सकता है। यहां भी इसमें मौजूद फाइबर के लाभ देखे जा सकते हैं। दरअसल, फाइबर युक्त आहार का सेवन करने से पेट लंबे समय तक भरा रहता है, जिससे अतिरिक्त भोजन करने की इच्छा में सुधार होता है। इस प्रकार आप अपने वजन को नियंत्रित करने का काम कर सकते हैं।

मधुमेह में फलदायक

डॉक्टरो का मानना है कि मधुमेह की स्थिति में खान-पान पर ध्यान देना बहुत आवश्यक होता है, ताकि मधुमेह के जोखिम को कम किया जा सके। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार यह देखा गया कि मधुमेह की स्थिति में अगर आप इसबगोल का सेवन करते हैं तो यह ग्लाइसेमिक ( खाद्य पदार्थों में कार्बोहाईड्रेट का स्तर) और लिपिड को नियंत्रित कर सकता है, जो टाइप-2 मधुमेह वाले लोगों में मधुमेह के जोखिम को कम कर सकता है।

कोलेस्ट्रॉल को सन्तुलित करने में सहायक-

यह भी कहा जाता है कि कोलेस्ट्रॉल के स्तर को संतुलित करने के लिए भी इसबगोल भूसी के लाभ देखे जा सकते हैं। इसबगोल में मौजूद फाइबर का सेवन आरामदायक होता है। यह कोलेस्ट्रॉल को अवशोषित (Absorb) करने के लिए प्रयोग किया जाता है, जो मल त्याग के दौरान शरीर से बाहर निकल जाते हैं। साथ ही साथ इसबगोल का सेवन करने से लो डेंसिटी लिप्रोप्रोटीन (खराब कोलेस्ट्रॉल) के स्तर को कम किया जा सकता है।

Husk  Meaning

Husk का अर्थ :

‣ भूसी

 ‣ छिलका

 ‣ छाल

 ‣ बक्कल

Isabgol Benefits

डायरिया के इलाज में भरपूर असरदार :

ध्यान देने वाली बात यह है कि कब्ज़ दूर करने एक अलावा इसबगोल डायरिया या दस्त रोकने में भी बहुत कारगर है। अधिकांश डॉक्टर डायरिया के घरेलू उपाय के रुप में ईसबगोल  खाने की सलाह देते हैं। डायरिया होने पर इसबगोल को दही के साथ मिलाकर खाएं। दही में प्रोबायोटिक गुण होने के कारण यह संक्रमण को जल्दी ठीक करती है वहीं इसबगोल दस्त को रोकती है।

 

दिल के लिए असरदार :

विशेषज्ञों की राय के अनुसार इसबगोल की भूसी में कोलेस्ट्रॉल बिल्कुल भी नहीं होता है और फाइबर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार ईसबगोल जैसे फाइबर से भरपूर चीजों को अपनी डाइट में शामिल करने से दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा काफी कम हो जाता है। यह ब्लड प्रेशर को कम करने, लिपिड लेवल को बढ़ाने और ह्रदय की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करती है। इस लिहाज से देखा जाए तो यह दिल को सेहतमंद रखने में बहुत उपयोगी है।

एसिडिटी को ख़त्म करना : 

डॉक्टरो का मानना है कि कभी कभी कुछ हानिकारक चीजें खा लेने के बाद पेट में एसिडिटी बनना एक आम समस्या है। अक्सर रात का खाना खाने के बाद यह समस्या ज्यादा होती है। एसिडिटी की वजह से पेट फूलना या खट्टी डकारें आने लगती हैं। अगर आप अक्सर ही इस समस्या से पीड़ित रहते हैं तो इसबगोल की भूसी आपके लिए प्रचुर लाभकारी साबित हो सकती है।

डायबिटीज में आराम देना :

डॉक्टरो का मानना है कि इसबगोल में जिलेटिन पाया जाता है जो शरीर में ग्लूकोज के विघटन और अवशोषण की प्रक्रिया को धीमी करती है। जिससे डायबिटीज या मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद

मिलती है। कई शोधों में इस बात की पुष्टि हुई है कि डाइट में फाइबर से भरपूर चीजों का सेवन करने से इंसुलिन और ब्लड शुगर लेवल कम होता है जिससे डायबिटीज को नियंत्रित करना आसान हो जाता है।

Isabgol Side Effects

दवाइयों के असर को कम करना :

कई बार ऐसा देखा गया है कि जो मरीज किसी और बीमारी की दवा पहले से खा रहे होते हैं, उन्हें अचानक पेट से जुड़ी समस्या होने पर जब वे इसबगोल खाते हैं तो यह दवाइयों के असर को कम कर देती है। इसबगोल दवा को घुलने से रोक देती है जिससे दवा अपना पूरा असर नहीं दिखा पाती है।

पेट में मरोड़ या सूजन होना  :

डॉक्टरो का कहना है कि कभी-कभी इसबगोल की भूसी खाने पर पेट में मरोड़ या सूजन होने लगती है। ऐसा होने पर इसबगोल का सेवन तुरंत बंद कर दें

पोषक तत्वों के अवशोषण पर काफी प्रभाव पड़ना :

कुछ शोधों में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि ईसबगोल के सेवन से जिंक, कॉपर व अन्य प्रमुख पोषक तत्वों का शरीर में अवशोषण घट जाता है। जबकि ये पोषक तत्व शरीर को सेहतमंद रखने में अहम भूमिका निभाते हैं। इस लिहाज से देखा जाए तो नियमित अधिक मात्रा में इसबगोल खाने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो सकती है।

पेट में भारीपन महसूस करना :

 याद रहे कि इसबगोल के साइड इफ़ेक्ट के कारण आपको पेट में भारीपन जैसा भी महसूस हो सकता है। इससे परेशान होने की ज़रुरत नहीं है क्योंकि यह समस्या कुछ देर बाद अपने आप ही खत्म हो जाती है।

भूख में कमी की समस्या होना  :

डॉक्टरो का मानना है कि इसबगोल का नियमित सेवन करने पर भूख में कमी की समस्या भी हो सकती है। हालांकि यह समस्या बहुत कम लोगों में देखने को मिलती है।

Isabgol For Constipation

एनल फिशर्स को दूर करना

वैज्ञानिकों की द्रष्टि से फिशर्स और पाइल्स को ठीक करने में मदद करता है ईसबगोल के घुलनशील और अघुलनशील गुण एनल फिशर्स की समस्याओं को ठीक करने में मदद करते हैं। यह आंत को साफ करता है और आंत के कुछ हिस्सों से पानी को अवशोषित करके मल को नरम करता है और मल के मार्ग को चिकना और मुलायम बनाता है।

मल को नर्म बनाना

डॉक्टरो के अनुसार ईसबगोल में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर होता है जो कब्ज की समस्या से आराम दिलाने में मदद करता है। ईसबगोल का सेवन करने के बाद यह पेट में फैल जाता है और शरीर से सामग्री को बाहर निकालने में मदद करता है। पानी के संपर्क में आने पर यह काफी चिपचिपा हो जाता है इसलिए यह कठोर मल को नर्म बनाने में मदद करता है।

स्टूल का आकार बढाना

ध्यान देने वाली बात यह है कि इसका उपयोग ज्यादा मात्रा वाले लेक्सेटिव के रूप में किया जाता है और मल के आकार को बढ़ाता है। इस प्रकार यह कब्ज को दूर करने में मदद करता है। यह आंशिक रूप से पचने वाले भोजन में बंध कर काम करता है जो पेट से छोटी आंत से गुजरता है।

पाचन प्रक्रिया को तंदुरुस्त बनाना

डॉक्टरो की राय के अनुसार ईसबगोल पेट की सामग्री को साफ करने में मदद करता है और मल त्याग को बढ़ाता है। नमी का अवशोषण कठोर मल को नम रखने में मदद करता है इसलिए मल को पास करने के लिए एक आसान रास्ता बनाता है।

Download the above Benefits in PDF

कुछ और हैरान करने वाले फायदे ज़रूर देखें

CLICK BELOW

Badam And Badam Oil Ke Fayde(बादाम के फायदे )

बादाम शुरू से ही हमारे पौष्टिक आहार का हिस्सा रहा है | बादाम रोगन तेल के भी बहुत से फायदे है | इस पेज में हम बादाम ,बादाम के तेल ,बादाम पाक पतंजलि बादाम पाक और प्रेगनेंसी में बादाम के फायदों के बारे में बताएंगे

Dalchini Ke Fayde In Hindi (Dalchini Benefits)

दालचीनी के फायदे(dalchini benefits) असीमित है | इस पेज में हम dalchini ke fayde के साथ साथ jeera dalchini ke fayde hindi में  भी बताएंगे |

Fitkari Ke Fayde, Uses And Upyog In Hindi(फिटकरी के फायदे)

फिटकरी बहुत ही गुणकारी पदार्थ है। फिटकरी लाल व सफेद दो प्रकार की होती है। इस पेज में हम fayde ke fayde (फिटकरी के फायदे) के साथ साथ fitkari meaning, fitkari ka formula ,fitkari ka powder और Fitkari ka upyog भी बताएंगे |

Giloy Ke Fayde In Hindi (गिलोय के फायदे)

गिलोय बेल के रूप में बढ़ती है और इसकी पत्त‍ियां पान के पत्ते की तरह होती हैं| गिलोय के फायदे  असीमित है | गिलोय का इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों में किया जाता है. इस पेज में हम giloy ke fayde और nuksan hindi में  बताएंगे |

Gomutra/Gomutra Ark Ke Fayde In Hindi (गोमूत्र के फायदे)

गाय हिन्दू धर्म में पूजनीय के साथ साथ हमारे लिए बहुत लाभकारी भी है| gomutra ark और गौमूत्र के फायदे इतने अधिक हैं कि इसके फायदे बताने में कई दिन लग जाएगें। इस पेज में हम  केवल गौमूत्र के फायदे (gomutra ke fayde), gomutra benefits, gomutra arka, gomutra ark side effects, patanjali gomutra ark in hindi के बारे  में बताएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *